Fri. Feb 26th, 2021

पीएमजीएसवाई में भ्रष्टाचार ,पत्रकार अमरनाथ झा की खबर का हुआ असर, ईएनसी ने लिया खबर का संज्ञान, लिखा चीफ इंजी0 प्रयागराज को जांच के लिए पत्र, विभागीय अधिकारियों में मचा हड़कंप,

👉 पत्रकार अमरनाथ झा की खबर का संज्ञान लेकर ईएनसी ( प्रमुख अभियंता ) राजपाल सिंह ने लिया खबर का संज्ञान ।

👉 उन्होंने चीफ इंजीनियर प्रयागराज को लिखा जांच के लिए पत्र । विभागीय अधिकारियों में मचा हड़कंप ।

👉 खबर लिखने के बाद भी नहीं बैठते कौशांबी में पीएमजीएसवाई के एक्सियन, प्रयागराज से चल रहा है विभाग ,आज तक नहीं लगे विभाग में सीसीटीवी कैमरे, ईएनसी के आदेशों को खुलेआम एक्सियन ने उड़ाई धज्जियां ।

 बिना बांड बने ही ठेकेदार ने गुणवत्ता विहीन सड़क नवीनीकरण कुरईघाट मामले में लगाया था काम, चीफ इंजीनियर ने लिखा था ठेकेदार को काली सूची में डालने के लिए पत्र, नहीं हुई कार्रवाई

प्रयागराज । जनपद में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत हुए भ्रष्टाचार की खबर को पत्रकार अमरनाथ झा ने प्रमुखता से हिंदी खबर और कौशांबी वॉइस में चलाकर विभागीय उच्च अधिकारियों एवं यूपी गवर्नमेंट सहित पीएमओ कार्यालय को ट्वीट किया था । जिस खबर का ईएनसी ने संज्ञान लेकर प्रयागराज के चीफ इंजीनियर एवं संबंधित अधिकारियों को पत्र लिखकर मामले की जांच कराने के लिए आदेश दिए हैं । इस खबर के बाद जैसे ही पत्र प्रयागराज में विभागीय अधिकारियों के यहां पहुंचा तो पूरे महकमे मे हड़कंप मच गया है ।

बता दें कि प्रयागराज में पीएमजीएसवाई की कई सड़कों में एक्सईएन एच0सी त्रिवेदी एवं उनके कुछ चाटुकार अवर अभियंताओं द्वारा वर्षों से भ्रष्टाचार करके काली कमाई की अकूत संपत्ति कमाई गई है । एक्सियन सहित इनके करीबी लोगों के आय से अधिक संपत्ति एवं तमाम बेनामी संपत्ति लखनऊ एवं प्रयागराज सहित अन्य महानगरों में करोड़ों के आलीशान बंगले एवं प्लाट खरीदे गए हैं लेकिन आज तक इनकी आय से अधिक संपत्ति की जांच नहीं हुई है ।

सूत्रों की माने तो एच0सी त्रिवेदी एवं इनके कुछ खास जेई व ए0ई प्रीति पटेल व कृष्ण कुमार जैसे अधिकारियों ने अपने परिवार के सदस्यों एवं रिश्तेदारों के नाम कई करोड़ों का फ्लैट, आलीशान बंगले खरीदे हैं । विभाग में अवैध काली कमाई करके करोड़ों रुपए कमाए हैं यदि इनके अवैध काले कारनामों की जांच हुई तो कई करोड़ की संपत्ति का खुलासा होना तय है । अब देखना है कि इस पत्र के आने के बाद प्रयागराज के अधिकारियों एवं पीएमजीएसवाई के एक्सईएन एचसी त्रिवेदी सहित कई लोगों में हड़कंप मच गया है । फिलहाल एक्सियन कौशांबी के जीटी रोड से कुरईघाट रोड एवं प्रयागराज की कुछ सड़कों का भुगतान कराने के लिए जी-जान से जुटा हुआ है । यही वजह है कि उच्च अधिकारियों से सांठगांठ करके एक्शियन ने एसक्यूएम की जांच भी करवा करके रकम निकालने की पूरी तैयारी में लगा हुआ है ।

देखा जाए तो प्रयागराज मंडल में लगभग 2अरब 52 करोड़ का काम पीएमजीएसवाई के तहत कार्य सेंसन हुआ है । जिसमें एक्सियन भ्रष्टाचार करने के लिए रणनीति बनाना शुरू कर दिया है । अपने चहेते जेई एवं एई जो इनके यसमैन है उनके साथ मिलकर भ्रष्टाचार के तहत सरकारी रकम की लूट के लिए गोट बिछाना शुरू कर दिए है ।
भ्रष्टाचार में लिप्त एक्सियन एचसी त्रिवेदी जिनके खिलाफ कई जिलों में जांच चल रही है । वही प्रयागराज के कई जूनियर इंजीनियरों ने उच्चाधिकारियों को 26 नवंबर 2020 को अधीक्षण अभियंता को पत्र लिख कर इनके साथ काम करने से मना कर दिया है लेकिन उनके लिखे गए पत्र पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं है जो विभाग में चर्चा का विषय बना हुआ है ।

मुख्य ख़बरें