Fri. Feb 26th, 2021

अध्यक्ष रेलवे बोर्ड और चीफ एक्ज़ीक्यूटिव ऑफिसर रेलवे बोर्ड  वी0के यादव ने की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग,

उत्तर मध्य रेलवे ने नवंबर -2020 में अर्जित किया 151 करोड़ रुपये का माल ढुलाई राजस्व ।

अध्यक्ष रेलवे बोर्ड और चीफ एक्ज़ीक्यूटिव ऑफिसर रेलवे बोर्ड  वी के यादव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संरक्षा, माल और पार्सल लोडिंग, गुड्स शेड संबंधी कार्यों और अन्य महत्वपूर्ण विषयों की समीक्षा की
उत्तर मध्य रेलवे ने माल लदान में एक करोड़ टन का आंकड़ा पार किया  ।

1 दिसम्बर 2020 को, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ विनोद कुमार यादव और अन्य सदस्यों ने क्षेत्रीय रेलों के महाप्रबंधकों और मंडल रेल प्रबंधकों के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संरक्षा, माल और पार्सल लदान, गुड्स शेड के काम और अन्य महत्वपूर्ण विषयों की स्थिति की समीक्षा की।

प्रारंभ में, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष और सीईओ यादव ने कहा कि संरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है और हमें ट्रेन परिचालन में संरक्षा पर ध्यान लगातार केंद्रित रखना होगा। उन्होंने विशेष रूप से मानव युक्त लेवल क्रॉसिंग संरक्षा और रेल पथ प्वाइंटों और क्रॉसिंगोंके उचित रखरखाव पर जोर दिया। उन्होंने नवंबर -2020 में बेहतर माल लदान प्रदर्शन के लिए क्षेत्रीय रेलों को बधाई दी और इस गति को बनाए रखने के लिए जोनों और डिवीजनों को प्रेरित किया। श्री यादव ने यह भी कहा कि आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस और डेटा एनालिटिक्स का उपयोग रेलवे के भविष्य के अनुरक्षण और संचालन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा और महाप्रबंधकों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि प्रत्येक क्षेत्रीय रेल के पर्याप्त अधिकारियों को इस क्षेत्र में प्रशिक्षित किया जाए जिसके लिए रेलवे बोर्ड द्वारा ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने रेलवे बोर्ड को अवगत कराया कि उत्तर मध्य रेलवे लगातार ट्रेनों की मोबिलिटी की मॉनिटरिंग कर रहा है और दिनांक 30 नवंबर 2020 को 532 ट्रेनों के सर्वोच्च इंटरचेंज प्राप्त किया है । यह दिनांक 25 मार्च 2020 को किए गए पिछले सबसे बेहतर 515 ट्रेनों के इंटरचेंज से 17 ट्रेन अधिक है। उन्हों ने उत्तर मध्य रेलवे में गुड्स शेड में किए गए सुधारों और माल भाड़ा लोडिंग बढ़ाने के लिए उठाए गए विपणन प्रयासों के बारे में भी रेलवे बोर्ड को बताया।

माल लदान में उत्तर मध्य रेलवे ने नवंबर -2020 में कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं। इस महीने में उत्तर मध्य रेलवे का माल लदान एक करोड़ टन के स्तर को पार कर गया है और अब तक चालू वित्त वर्ष में कुल 101.6 लाख टन माल लोड किया जा चुका है। पिछले 06 महीनों से सकारात्मक लोडिंग प्रदर्शन के साथ, उत्तर मध्य रेलवे ने वर्तमान वित्त वर्ष में पिछले वर्ष नवंबर तक लोड किए गए 100.6 लाख टन को पार कर लिया है। नवंबर 2020 में, उत्तर मध्य रेलवे ने 14.8 लाख टन माल लोड किया है, जो नवंबर -2019 में की गई लोडिंग की तुलना में 3.5 लाख टन अधिक है। इससे नवंबर 2019 के 89.12 करोड़ रुपये के प्रारंभिक माल भाड़ा आय की तुलना में 69.5% की वृद्धि दर्ज करते हुए 151 करोड़ रुपये की माल भाड़ा आय अर्जित की है। दीवाली और छठ त्योहारों के कारण पिछले साल की तुलना में नवंबर,20 में कम कामकाजी दिनों के दृष्टिगत उत्तर मध्य रेलवे का यह प्रदर्शन विशेष रूप से उल्लेखनीय है। 30 नवंबर 2020 तक चालू वित्त वर्ष में उत्तर मध्य रेलवे की प्रारंभिक माल लदान आय 1075 करोड़ रुपये है, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 879 करोड़ रुपये के माल लदान आय से रुपये 196 करोड़ अधिक है।
महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने माल लदान और राजस्व में निरंतर सकारात्मक वृद्धि के लिए मंडलों और मुख्यालय के अधिकारियों को बधाई दी।

मुख्य ख़बरें