Sun. Jan 17th, 2021

पुलिस ने किया दोहरे हत्याकांड का 24 घंटे में किया खुलासा, पत्नी ने ही जीजा के प्रेम में फंस किया था पति और पुत्र की हत्या,पुलिस ने लिखा पढी करके भेजा जेल

बहन बहनोई समेत चार लोगों के साथ मिलकर महिला ने किया था पति बेटे की हत्या

कौशाम्बी । पिपरी थाना क्षेत्र के चायल पुलिस चौकी अंतर्गत पिता पुत्र के हत्या के मामले का पिपरी पुलिस ने खुलासा कर दिया है महिला ने ही अपने बहन बहनोई और अन्य लोगो के साथ मिलकर अपने ही पति और बेटे की हत्याकांड की घटना को अंजाम दिया था । पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

घटनाक्रम के मुताबिक पिपरी थाना क्षेत्र के चायल पुलिस चौकी अंतर्गत चायल कस्बा निवासी वकील अहमद उर्फ नौसे और उनके तीन वर्ष के बेटे अरहम को चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतारा दिया गया था इस दोहरे हत्याकांड को अंजाम देने में जीजा के प्यार में पागल महिला अपने घर के आंगन में ही अपने पति और बेटे की हत्या के बाद दोनों की लाश को दफन कर देती इसी उद्देश्य से घर के आंगन में गड्ढा तैयार किया गया था।

इस दोहरे हत्याकांड में मृतकों की पत्नी गुलनाज और उसके जीजा सफदर अली उर्फ बबलू पुत्र सत्तार अहमद सरदार की पत्नी नूरी और सफदर के नाबालिग बेटे अनस को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है गिरफ्तार चारों आरोपियों को पुलिस ने अदालत में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है दोहरे हत्याकांड का खुलासा पुलिस अधीक्षक ने किया है।

तंत्र मंत्र साधना की बात हजम नहीं कर पा रहे ग्रामीण

हत्याकांड में जीजा के प्यार में पागल महिला द्वारा अपने पति और बेटे की हत्या किए जाने की बात प्रकाश में आई है लेकिन हत्याकांड के खुलासे में पुलिस ने यह कहा है कि तंत्र मंत्र की सिद्धि के लिए पहले पुत्र की गला घोटकर हत्या की गई थी पति की अतरिया निकालकर पुत्र को जीवित करने का प्रयास तंत्र मंत्र साधना के जरिए किया गया जिसमें पति की भी मौत हो गई है पुत्र से बड़ी कौन से सिद्धि होगी जो पुत्र की गला घोटकर कर हत्या के बाद महिला सिद्धि प्राप्त करना चाहती थी।

नाबालिग की गिरफ्तारी को हजम नहीं कर पा रहे ग्रामीण….

कौशाम्बी। पिपरी थाना क्षेत्र के चायल कस्बे में वकील अहमद उर्फ नौसे और उनके बेटे के हत्याकांड के मामले में वकील के साढू के 14 वर्षीय पुत्र अनस की गिरफ्तारी को ग्रामीण हजम नहीं कर पा रहे हैं ग्रामीणों ने इस दोहरे हत्याकांड में किसी अन्य लोगो के शामिल होने की बात की थी लेकिन इस दोहरे हत्याकांड में नाबालिग की गिरफ्तारी कर थाना पुलिस कही किसी को बचाने का प्रयास तो नही कर रही है।

===================================

सदर तहसील के बरौली गांव के ग्रामीणों ने कोटा निरस्त के लिए लगाई फरियाद।

👉 कुछ दिन पूर्व में बरौली गांव में ग्रामीणों ने कोटा की घटतौली समेत कई आरोप लागये थे।

👉 जिसमे अधिकारियों द्वारा की गई जांच में कोटेदार दोसी पाया गया था तो निलंबन की गाज गिराई गई थी कोटेदार के ऊपर।

कौशाम्बी । मामला सदर तहसील के ग्राम बरौली का है जहांं कोटेदार की मनमानी का आरोप लगाया था और अधिकारियों द्वारा कोटे की जांच की गई तो कोटेदार पर प्रथम दृष्टया आरोप पाया गया था की राशन में ग्रामीणों के रासन से घटतौली की जा रही है। इसी संबंध में डीएम अमित कुमार सिंह से बरौली ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने मिलकर कोटा निरस्त कराए जाने की लिखित तरीके से ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन के माध्यम से ग्रामीणों ने कोटेदार की रवैया को बताया आवश्यक वस्तुओं के वितरण में अनियमितता की जा रही है और कार्ड धारकों को 2 किलो चने की जगह 1 किलो चना वितरण खाद्यान्न के वितरण में घटतौली की जा रही थी।

डीएम अमित कुमार सिंह ने ग्रामीणों से ज्ञापन लेते हुए कहा कि कोटेदार की जांच कराकर अवश्य कार्यवाही करने की बात कही है । अगर किसी भी प्रकार की राशन वितरण में लापरवाही की गई तो जिम्मेदार नहीं बक्से जाएंगे ।

मुख्य ख़बरें