Thu. Oct 22nd, 2020

रेलवे के डीआरएम ऑफिस में तैनात पीए दिनेश चंद्र शर्मा का आतंक,15-20 वर्षों से एक ही जगह है तैनात, डीआरएम के नाम पर विभाग में बना रखा है भौकाल, कर्मचारियों में व्याप्त है दहशत, सरेआम एक कर्मचारी की किया दिनदहाड़े पिटाई

रेलवे एनसीआर के डीआरएम के पीए दिनेश शर्मा की गुंडई खुलेआम । डीआरएम के पीए होने का बनाता है विभाग में भौकाल ।

👉 जिसको चाहता है मनमाना पीटता है, गाली गलौज कर बना रखा है विभाग मे दहशत ।
👉 लगभग 20 वर्षों से एक ही जगह पर जमा है डीआरएम का पीए दिनेश शर्मा ,उच्च अधिकारियों को नहीं है इस बिगड़ैल पीए पर कोई लगाम ।

👉आम से लेकर अमरुद तक पहुंचाता है अधिकारियों के घर, इलाहाबाद से दिल्ली तक पहुंचाने का करता है काम ।
👉 सूत्रों की मानें तो दिनभर ऑफिस कार्यालय में कंप्यूटर पर यू-टूब ,फेसबुक पर देखता है अश्लील वीडियो, नहीं करता है कोई काम ड्यूटी पीरियड में करता है सिर्फ आराम ।

प्रयागराज । मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय इलाहाबाद में तैनात डीआरएम का पी0ए दिनेश शर्मा की आजकल चर्चा सुर्खियों में है । इस पीए की दहशत विभाग में इस कदर है कि कोई भी फरियादी डीआरएम तक पहुंचने या अपनी फरियाद लेकर जाने में घबराता है । यदि देखा जाए तो लगभग 20 वर्षों से दिनेश शर्मा शर्मा एक ही जगह इलाहाबाद में जमा हुआ है । इसका ट्रांसफर अभी तक नहीं हुआ है जबकि रेलवे गाइडलाइन के ट्रांसफर पॉलिसी के मुताबिक 4 साल से ज्यादा कोई एक जगह पर नहीं रह सकता है ।

बता दें कि यह व्यक्ति 20 वर्ष से एक ही जगह पर तैनात है और इसका अभी तक कोई भी ट्रांसफर नहीं किया गया है । यही कारण है कि इसकी गुंडई खुलेआम इतनी बढ़ गई है कि कर्मचारियों को गाली गलौज करना ,मारना पीटना और कर्मचारियों में दहशत फैलाना आम बात हो गई है । इसके आतंक से डीआरएम सेल में कोई भी कर्मचारी अपनी फरियाद करने नहीं आता है ।

सूत्रों की माने तो यह व्यक्ति ऑफिस में कंप्यूटर पर यूट्यूब, फेसबुक पर तमाम अश्लील चीजें देखते रहता है और भड़काऊ पोस्ट सोशल मीडिया पर डालता रहता है, जिसकी चर्चा लोगों में सरेआम है । अभी हाल ही में कॉलोनी में एक कर्मचारी को दर्जनों लोगों के सामने गाली गलौज करते हुए मारपीट करता है लेकिन किसी की भी हिम्मत नहीं पड़ी कि इस बिगड़ैल डीआरएम के पी0ए दिनेश शर्मा को रोक सके । इस मामले के सुर्खियों में आने के बाद भी इसमें उच्च अधिकारियों एवं डीआरएम ने भी कोई कार्रवाई नहीं की है । इस मामले में तो अब तक रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए लेकिन दहशत में आए पीड़ित कर्मचारी हिम्मत जुटाने में असमर्थ है । अब देखना है कि कौशांबी वॉइस की खबर का संज्ञान लेकर उच्च अधिकारी इस बिगड़ैल डीआरएम के पीए दिनेश शर्मा पर कोई कार्रवाई करते हैं या फिर यूं ही मामला चलता रहेगा जो 20 वर्षों से एक ही जगह तैनात होकर भ्रष्टाचार फैलाने में सक्रिय यह जांच का विषय है ।

मुख्य ख़बरें