Mon. Nov 23rd, 2020

 भू माफिया के खिलाफ न्यायालय के आदेश पर दर्ज हुआ मुकदमा, आखिर कहां से आई भू माफिया के पास अरबों की संपत्ति,भू माफियाओं के खिलाफ सख्ती से निपटने का सीएम ने दे रखा है आदेश, लेकिन जिला प्रशासन भू माफियाओं पर नहीं कर रहा है कार्यवाही ,आखिर क्यों

भू माफिया की पहुंच के चलते कोतवाली पुलिस नहीं दर्ज कर रही थी मुकदमा।

👉मुकदमा दर्ज होते ही भूमाफिया खेमे में मचा हड़कंप ,मुकदमे को खत्म कराने के लिए शुरू हुआ सेटिंग गेटिंग का खेल।

👉 आखिर क्यों नहीं कर रही है पुलिस भू माफिया के खिलाफ कार्रवाई ,जबकि योगी सरकार माफियाओं के खिलाफ सख्ती से निपटने की करती है बात…

👉 सूत्रों की माने तो यादव प्रकरण से जुड़े हैं भू माफिया के तार ,कहां से बनाई अरबों की प्रॉपर्टी ,जांच का विषय…

👉 अगर पुलिस ने सख्ती से किया जांच, तो बेनकाब होंगे कई बेनामी संपत्ति वाले भू माफियाओं के नाम ।

कौशाम्बी । मुख्यालय के चर्चित भू-माफिया के खिलाफ जब स्थानीय थाना पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो पीड़ित ने न्यायलय का दरवाजा खटखटाया । इस मामले में न्यायलय ने कड़ा कदम उठाते हुए भू माफिया के खिलाफ 15 गंभीर धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कराने का आदेश जारी कर दिया है । जैसे ही यह खबर भू माफिया को मिली तो खेमे में हड़कम्प मच गया। इस माफिया गिरोह ने मुख्यालय की एक दर्जन से भी ज्यादा जमीन पर आवैध रुप से कब्जा करने की शिकायत की गई है यही नहीं कि सरकारी जमीन पर भी इस माफिया का कब्जाने के आरोप लगे हैं लेकिन इसके बाद ही विभागीय पकड़ के चलते पुलिस अधिकारी इस पर हाथ डालने से बचते रहे हैं। अब न्यायालय के आदेश के बाद मुकदमा तो दर्ज हो गया है, लेकिन भू माफिया अभी इस पूरे मामले को खत्म कराने के लिए अधिकारियों की गणेश परिक्रमा शुरू कर दी है।

शिकायतकर्ता नरेश चंद्र ने आरोप न्यायालय से प्रार्थना की थी कि भूमाफिया धर्मराज पाल,अभय राजपाल, राजेश कुमार प्रजापती, राजेश कुमार यादव सुरेश चंद्र यादव अपने असलहो सहित उसके जमीन पर कब्जा करने के लिए चढ़ आए। यही नहीं पीड़ित नरेश चंद्र को इन दबंगो ने वही घेराबंदी कर मारपीट कर गंभीर रुप से घायल कर दिया। पीड़ित आरोप लगाते हुए कहा कि जब उसने थाना पुलिस से शिकायत किया तो वहां पर भी पुलिस अधिकारियों ने उल्टा उसे गाली गलौज कर बैरंग वापस भेज दिया। मामले में न्यायालय ने पीड़ित की पीड़ा को संज्ञान लेते हुए दबंग भूमाफिया के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर जांच करने के आदेश सदर कोतवाली पुलिस को दे दिए है।

मुख्य ख़बरें