Thu. Oct 22nd, 2020

जिले में बिक रहे चोरी के वाहन ,दोपहिया से लेकर चारपहिया के वाहन हो रहे सेल, पुलिस ने जांच किए तो कई चोरी के वाहनों का होगा खुलासा

सेल के बाजार में बिकते हैं चोरी के वाहन

पुलिस ने यदि मुकदमा लिख कर सेल बाजार के मालिक को जेल भेज दिया तो उसका खरीदा वाहन भी पुलिस मुकदमे की प्रॉपर्टी बना देगी जिससे उसका वाहन भी और धन दोनो चला जाएगा ।

कौशाम्बी। जिले में इन दिनों दोपहिया और चार पहिया वाहनों के सेल बाजार लगाए जाते हैं और सूत्रों की माने तो इन सेल बाजार में चोरी के वाहन अधिक आते हैं। प्रदेश के एक जिले में चोरी गए वाहन प्रदेश के दूसरे किनारे के जिलों में सेल बाजार के मालिक के पास भेज दिया जाता है। जहां गाड़ी के चेसिस नंबर इंजन नंबर और परिवहन विभाग के अभिलेखों में हेराफेरी कर भोले भाले खरीददारों को वाहन बेच दिया जाता है। इस बात का खुलासा तो तब होता है जब वाहन खरीद दार सेल बाजार के झांसे में आकर अपनी गाढ़ी कमाई की मोटी रकम उन्हें दे देता है।

खरीददार यह जान भी जाता है कि वह चोरी के वाहन में फस चुका है लेकिन रकम गवाने के बाद वह इसलिए पुलिस के पास नहीं जाना चाहता कि पुलिस ने यदि मुकदमा लिख कर सेल बाजार के मालिक को जेल भेज दिया तो उसका खरीदा वाहन भी पुलिस कब्जे में लेकर मुकदमे की प्रॉपर्टी बना देगी जिससे उसका वाहन भी चला जाएगा और उसका धन भी चला जाएगा ।

इसलिए ठगी के शिकार होने के बाद भी इस मामले की शिकायतें पुलिस थानों में नहीं हो रही है जिले में लगने वाली सेल बाजार में दर्जनों चोरी के वाहन अभी भी मौजूद है लेकिन अब इसकी लिखित शिकायत पुलिस से कौन करें और इसका वादी कौन बने इस बात के असमंजस के चलते सेल बाजार के मालिकानों के कारनामों की शिकायत पुलिस तक नहीं हो पाती है और इसी के चलते चोरी के वाहनों की बिक्री की तादाद दिनोंदिन बढ़ती जा रही है ।

कौशांबी जिले में भी खुलेआम चोरी के वाहन सेल बाजार से बेचे जा रहे है यदि सेल बाजार के वाहनों पर बिक्री के पूर्व पुलिस ने जांच कराई तो सेल बाजार लगाने वाले मालिकानों की गिरफ्तारी और जेल जाना तय है अब यहां कानून की बात करें तो वाहन मालिक का वाहन बिना परिवहन विभाग के स्थानांतरित हुए सेल बाजार पर कैसे रखा जा सकता है लेकिन कई कई दर्जन लग्जरी वाहन आलीशान कार सेल बाजार में खुलेआम नुमाइश में लगाए जाते हैं सेल बाजार की ओर लोगों ने पुलिस अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए इनके वाहनों के असली मालिकानों को बुलाते हुए वाहनों की जांच कराए जाने की मांग की है।

मुख्य ख़बरें