Thu. Oct 22nd, 2020

डीआरएम ऑफिस में तैनात बाबू मोतीलाल मिश्रा का गजब कारनामा,एक पत्नी के अलावा रखा चुपके से दूसरी बीबी,विभाग में बना चर्चा का विषय,पत्नी ने लगाया आरोप, रेलवे में है अन्य महिलाओं से सम्बंध,पत्नी ने दर्ज कराया मुकदमा

डीआरएम के नाक के नीचे फैला भ्रष्टाचार, एक ही जगह में 15-20 वर्षों से तैनात हैं मोतीलाल मिश्रा जैसे तमाम कर्मचारी व अधिकारी । अन्य विभागों में भी 15 -20 वर्षों से जमे हैं लोग, कौशांबी वॉइस केे बार-बार खबरें प्रकाशित करने के बाद भी उच्च अधिकारी नहीं ले रहे संज्ञान ।

👉 रेलवे कर्मचारी मुख्य कार्यालय अधीक्षक /कार्मिक शाखा ने 25 साल से एक पत्नी के रहते की चोरी चुपके दूसरी शादी । पत्नी ने दहेज का लिखाया था मुकदमा मोतीलाल मिश्रा को भेजवाया था जेेेल।

👉 रेलवे कालोनी में कर रहा था अय्यासी, पहली पत्नी को अपनी और बच्चों को दे रहा था धोखा

👉 पहली पत्नी लीलादेवी मिश्रा,निवासी ग्राम – उमापुर थाना -बारा, ने अपने हाइकोर्ट अधिवक्ता सुनील चौधरी के द्वारा कराई एफआईआर ।

👉 रेलवे में फर्जी तरीके से कमाई करोड़ों की संपत्ति, दूसरी पत्नी संध्या मिश्रा के नाम से खरीदी गाड़ी ,पहली पत्नी ने किया हंगामा ।

प्रयागराज । डीआरएम. आफिस उ.एम.रेलवे, प्रयागराज में तैनात रेलवे कर्मचारी मुख्य कार्यालय अधीक्षक/कार्मिक शाखा  मोती लाल मिश्रा मो0न0 9794837675, निवासी ग्राम उमापुर थाना बारा प्रयागराज जिसका वर्तमान पता 588A ट्रैफिक कालोनी( रेलवे कॉलोनी ) नवाबयूसफ़ रोड,प्रयागराज है । उसका 25 साल से अपनी पत्नी लीला देवी मिश्रा ग्राम उमापुर से पारिवारिक विवाद चल रहा है । मोती लाल मिश्रा ने शादी के कुछ साल बाद ही शराब पीकर आये दिन पत्नी को मारना-पीटना एवं दहेज आदि की मांग के कारण पत्नी श्रीमती लीला देवी मिश्रा द्वारा मोतीलाल मिश्रा के विरुद्ध धारा 498A व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था ,जिसमे मोती लाल मिश्रा जेल भी गए थे। उसके बाद मोती लाल मिश्रा ने संध्या सोनकर नाम की महिला को झांसे में लेकर अवैध सम्बन्ध बनाकर उसको रेलवे कॉलोनी में रख लिया और चुपके से शादी भी कर लिया लेकिन यह बात जाहिर नहीं होने दी व अपने अधिकारियों को भी सूचित नही किया । पारिवारिक न्यायालय में भी लीला व बेटे को 3-3 हजार देने का आदेश हुआ था लेकिन पैसे के दम पर बड़े वकीलों को शामिल कर आज तक मोती लाल मिश्रा ने 2-4 हजार से ज्यादा नही दिया और कोर्ट में कहता रहा कि उसने कोई शादी नही की है। जबकि दूसरी पत्नी संध्या सोनकर जो अब साक्ष्यों में संध्या मिश्रा हो चुकी है।

सब कुछ जानते हुए भी वह साबित नही कर पा रही थी कि उसके पति ने दूसरी शादी कर ली है । मोती लाल मिश्रा ने रेलवे मे अवैध तरीके से कमाई कर करोड़ो रूपये कमाए और उसी पैसे से फूलपुर में 20 बीघा जमीन भी खरीदी है। कार्यालय में यह RRC, RRB और अनुकम्पा आधार से चयनित होकर आये बच्चों का वेरिफिकेशन कराते हैं जिसमें कमिया निकालकर लाखों में पैसा लेकर सही करना,कोई भी समान की खरीदारी,AMC,, जैसे कंप्यूटर ,कुर्सी-मेज एवं हाउस बिल्डिंग एडवांस दिलाना, मेला व कोई भी कार्यक्रम कार्यक्रम सम्पन्न कराना व उसमें पैसा/कमीशन लेना ,बिभागीय परीक्षाओं में पैसा लेकर प्रमोशन कराना,ट्रांसफर एवं पोस्टिंग
आदि इनके आय के कुछ मुख्य स्रोत है। इसके अलावा कई चीज़ों की सप्लाई भी करते है।इस काम में इनका सहयोग मुकेश भी करते है।

श्रीमती लीला देवी मिश्रा ने हाइकोर्ट के अधिवक्ता सुनील चौधरी को अपनी व्यथा बताई,जिस पर सुनील ने न्याय दिलाने व मदद करने का पूरा आश्वासन दिया।लीला देवी मिश्रा का न्याय से भरोषा उठ गया था और उसने मुकदमे की पैरवी करना भी छोड़ दिया था। पीड़िता ने बीते 25 सालों में 20 वकीलों को बदल चुकी है लेकिन आज तक कोई सार्थक परिणाम नही निकला, और न्यायालय ने दिया तो सिर्फ तारीख पर तारीख ……

सुनील ने मोती लाल मिश्रा के दूसरी पत्नी जो अब संध्या मिश्रा हो चुकी है उनका पुलिस यातायात डिपार्टमेंट में संध्या मिश्रा के नाम से 4 पहिया मारुति (जेन) कार की चालान की कॉपी निकलवाई जिस पर पति का नाम मोती लाल मिश्रा लिखा था। जिस पर 17 मार्च 2020 को लीला देवी ने रेलवे कॉलोनी जाकर हंगामा किया तो मोतीलाल मिश्रा,देवर,व दूसरी पत्नी ने मारपीट किया जिस पर मोहल्ले वासियो ने पुलिस बुला लिया था। वहां पर पुलिस ने कोई कार्यवाही नही की है । इन सब मामलो को लेकर सुनील ने लीला देवी मिश्रा को अपर पुलिस महानिदेशक ,प्रयागराज के यहांं शिकायत पर जांंच के आदेश होने पर सी0ओ सिविल लाइंस के जांंच के बाद दिनांंक 28-8-2020 को थाना सिविल लाइंस में IPC की धारा 504,506,323,494 के तहत मुकदमा दर्ज किया है । लीला देवी के अनुसार आफिस में भी इनके साथ कार्यरत एक महिला के साथ भी इनका अवैध सम्बन्ध है।

अधिवक्ता सुनील चौधरी ने उत्तर मध्य रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक से व वरिष्ठ मण्डल कार्मिक अधिकारी से मोतीलाल मिश्रा के निलंबन की मांग की है और लीला देवी मिश्रा ने कहा कि जब तक मोती लाल मिश्रा का निलंबन कर जेल नही भेजा जाता तब तक धरने पर बैठूंगी ,क्योकि 25 साल से मेरे पति ने मुझे धोखे में रखकर दूसरी शादी की है और अगर जल्द मुझे मेरा हक नही मिला तो डीआरएम ऑफिस के सामने पति मोती लाल मिश्रा की फ़ोटो लेकर,अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह कर लूंगी। अब देखना है कि कौशांबी वॉइस की खबरों का संज्ञान लेकर रेलवे के उच्च अधिकारी इस मामले में क्या कार्रवाई करते हैं यह जांच का विषय है ।

मुख्य ख़बरें