Mon. Aug 10th, 2020

कानपुर में शहीद हुए 8 पुलिस कर्मियों में विनय तिवारी का था गद्दारी का हाथ ,कौशाम्बी जिले के थाना महेवाघाट के अलवारा का रहने वाला है विनय तिवारी, बाप की जगह 2006 में पाया था नौकरी

कानपुर में हुए 8 लोगों की शहादत के मामले में थानाध्यक्ष चौबेपुर विनय तिवारी हुआ गिरफ्तार ।

कानपुर में हुए आठ पुलिसकर्मियों के सहादत में था विनय तिवारी की गद्दारी का हाथ , कौशांबी में लोगों की जुबां पर हो रही है चर्चा ।
=================================
👉 कौशांबी के महेवा घाट थाना क्षेत्र के अलवारा गांव का रहने वाला है विनय तिवारी
👉 2006 में बाप की जगह पाया था नौकरी ।

कौशाम्बी । कानपुर के विकरु गांव में शहीद हुए 8 पुलिसकर्मियों के मामले में चौबेपुर थाना में तैनात विनय तिवारी कौशांबी जिले का ही रहनेे वाला है । विनय तिवारी ने कौशाम्बी जिले के नाम को दागदार किया है अब तो यह चर्चा कौशांबी जिले के लोगों में होने लगी है । कौशांबी के थाना महेवाघाट क्षेत्र के अलवारा गांव का रहने वाला है विनय तिवारी जो थानाध्यक्ष चौबेपुर मे तैनात था । विनय तिवारी अपने पिता की जगह 2006 में नौकरी पाया थाा । विनय तिवारी का परिवार प्रयागराज के थाना धूमनगंज इलाके के झलवा में रहता है । विनय तिवारी का विकास दुबे से नय गहरा संबंध था और उसने कौशाम्बी के नाम को दागदार किया है ।

फिलहाल विनय तिवारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और एसटीएफ ने गिरफ्तार कर उससे लगातार पूछताछ कर रही है । बता दें कि विकास दुबे अब भी फरार चल रहा है उसके लिए राजस्थान के दौसा और अलवर में भी पुलिस छापेमारी कर रही है । चौकी प्रभारी के0के0 शर्मा को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है ।

थानाध्यक्ष चौबेपुर विनय तिवारी की फोटो

बता दें कि विकास दुबे के एक सहयोगी अमर को भी पुलिस ने हमीरपुर में मार गिराया है । फिलहाल विकास दुबे को पुलिस ढूंढ रही है लेकिन अभी तक उसका कोई सुराग नहीं लगा है । विकास दुबे के टच में रहने वाले लोगों को पुलिस चिन्हित करके ढूंढ रही है ।

अमरनाथ झा पत्रकार

मुख्य ख़बरें