Thu. Sep 24th, 2020

दिनदहाड़े दलित किशोरी को गोविंद पांडे आदि ने की छेड़खानी,लड़की के शोर मचाने पर आए चाचा को लड़कों ने पीटा, पुलिस चौकी मूरतगंज और थाने में दी तहरीर, भाजपा नेताओं के दबाव मे नही दर्ज हुआ मुकदमा

नहीं रुक रहा है जिले में दलित उत्पीड़न का मामला ,दलित किशोरी के साथ दिनदहाड़े ओम पांंडे,गोविंद पांडे,राहुल ने की छेड़खानी, पुलिस नहीं दर्ज कर रही मुकदमा ।

दुकान पर बैठी दलित किशोरी से दबंगो ने आपराधिक बल पूर्वक किया जोर जबरदस्ती।

शोर मचाने पर दबंगो ने पीड़िता के चाचा का गला दबाकर की जान से मारने की कोशिश।

बेख़ौफ़ आरोपियो ने दी पीड़िता समेत परिवार को जिंदा जलाने की भी धमकी। छेड़खानी की शिकार पीड़िता के शिकायत के बाद भी पुलिस ने नही दर्ज की एफआईआर।

आरोपियों के रसूख के चलते पुलिस पर कार्यवाई न करने का आरोप। कोखराज थाना इलाके की घटना

कौशाम्बी । जनपद में इस समय सर अपराध जहां सिर पर चढ़कर बोल रहा वही दलित उत्पीड़न की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और पुलिस के आला अधिकारी चुप्पी साधे हुए बैठे हुए हैं ।

बता दें कि कौशांबी जनपद के थाना कोखराज क्षेत्र के एक गांव में दलित किशोरी को दिन दहाड़े गांव के कई म पांंडे,गोविंद पांडे,राहुल ने छेड़खानी की और उसके साथ जोर जबरदस्ती कर रहे थे । लड़की के शोर मचाने पर जब उसका चाचा आ गया तो सभी लड़कों ने उसके चाचा को गला दबाकर बुरी तरह मारा-पीटा और जान से मारने की धमकी दी है । इस घटना की सूचना जब पीड़िता ने चौकी और थाने में लिखित तहरीर दी तो कई घंटे बीत जाने के बाद भी अभी तक पीड़िता की रिपोर्ट नहीं दर्ज की गई है ।

बता दें कि कौशाम्बी जिले में एक विधायक एससी एवं एक सांसद एससी और दो विधायक ओबीसी तथा डिप्टी सीएम भी ओबीसी होने के बावजूद भी कौशाम्बी जनपद में दलितों और पिछड़ों पर अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहा है । वहीं पुलिस के आला अधिकारी भी दलितों एवं ओबीसी समाज के लोगों पर हो रहे जुल्म और अत्याचार के खिलाफ आंख मूंद कर बैठे हैं ,जिससे दलितों को न्याय नहीं मिल पा रहा है । यही वजह है कि कौशांबी जनपद मे दलित समाज का उत्पीडन तेजी से बढ.रहा है और पिछड़े वर्ग  की जनता भाजपा सरकार में प्रताड़ित है जिससे आने वाले समय में जिले की जनता भाजपा के इन नेताओं को सबक सिखाने का मन बना लिया है जो जिले में हो रहे एससी और ओबीसी के उत्पीड़न और शोषण पर चुप्पी साधे बैठे हैं ।

कांग्रेस के जिला अध्यक्ष अरुण कुमार विद्यार्थी ने कहा कि अगर कौशांबी जनपद में हो रहे दलितों और पिछड़ों पर अत्याचार नहीं रुका तो कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता जिले में आंदोलन करेंगे और दलितों की लड़ाई लड़ने का काम करेंगे और इस पीड़िता को न्याय दिलाने के काम करेंगे।उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में दलितो और पिछड़ों का उत्पीड़न चरम पर हो रहा है और इस सरकार में बिना नेताओं के इशारे पर कोई भी काम नहीं हो रहा है ।

बता दें कि मूरतगंज क्षेत्र के कई बीजेपी नेताओं के दबाव में पुलिस काम कर रही है, यही वजह है कि दलित पीड़ित की रिपोर्ट 24 घंटा बीत जाने के बाद भी अभी तक पुलिस नहीं दर्ज की है । जिले में दलित उत्पीड़न का यह कोई पहला मामला नहीं है ,इसी प्रकार कई दलित उत्पीडन का मामला जिले में उठा है लेकिन पुलिस के आला अधिकारी कार्रवाई के नाम पर हाथ पर हाथ रखे बैठे हैं ।

इस मामले में थाना अध्यक्ष कोखराज राकेश तिवारी एवं पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह से बात करने का कई बार प्रयास किया गया लेकिन उनका फोन नहीं उठा है । अब देखना है कि कौशांबी वॉइस का खबर के बाद उच्च अधिकारी इस मामले में संज्ञान लेते हैं या फिर सब कुछ ऐसे ही अंधेर नगरी चौपट राजा की तर्ज पर चलता रहेगा यह जांच का विषय है ।

मुख्य ख़बरें