Wed. Apr 8th, 2020

रात भर दौड़ते रहे डिप्टी सीएम के भतीजे रवि मौर्या के नाम पर ओवरलोड बालू डंम्फर ,इन ओवरलोड वाहनों को रोक पाने में जिला प्रशासन नाकाम, गरीब और कमजोर लोगों पर ही होती है कार्यवाही

रात भर दौड़ती है डिप्टी सीएम केशव मौर्य के भतीजे रवि मौर्या के नाम पर ओवरलोड लगे बालू डंपर ।

👉 एआरटीओ, खनन व पुलिस भी रवि मौर्य के नाम पर नहीं रोक पा रहे हैं ओवरलोड वाहन ।
👉 मंझनपुर चौराहे पर पुलिसकर्मियों को धौंस देकर निकल जाते हैं रवि मौर्या के नाम पर ओवरलोड डंपर ,ट्रक ।

👉 क्या सिर्फ कमजोर और गरीब लोगों के लिए बने हैं कानून, आम जनता में बना चर्चा का विषय ।

कौशाम्बी । एक तरफ जहां कोरोना वायरस को लेकर जिले में धारा 144 लागू है और लोगों को बाहर निकलने से रोकने के लिए जिला प्रशासन अपील कर रहा है । वहीं दूसरी तरफ डिप्टी सीएम के भतीजे रवि मौर्या के नाम पर धड़ल्ले से रात में ओसा, मंझनपुर चौराहा होते हुए ओवरलोड वालू डंफर ट्रक निकल रही है ।

ओसा चौराहा, मंझनपुर चौराहा ड्यूटी में लगे पुलिस कर्मचारियों को रवि मौर्य के नाम पर धौंस देकर निकल रही है ओवरलोड बालू लदी गाड़ियां । एक तरफ जहां जिला प्रशासन कोरोना वायरस को रोकने को एलर्ट है वही डिप्टी सीएम के नाम पर रात भर ओवरलोड वाहन फर्राटे मार रहा है । इस मामले में लगभग 11:15 बजे रात को कई वाहन चालक मंझनपुर चौराहा पर लगे बैरियर को अपने से खोलकर निकल गए और चौराहे पर तैनात होमगार्ड व सिपाहियों की भी नही सुने है ।

इस मामले में जब एसपी कौशांबी अभिनंदन सिंह को सूचना दी गई है तो उन्होंने एआरटीओ और खनन विभाग से भी बात करने की भी बात कही है ।
बता देंगे कि एआरटीओ विभाग के अधिकारी रात में फर्राटे मारने वाले ओवरलोड वाहनों पर कोई कार्यवाही नहीं करते या फिर कहीं ना कहीं डिप्टी सीएम के नाम का खौफ है जो इन्हें अपनी ड्यूटी करने से रोक रखा है । अब देखना यह है कि जहां एक तरफ करोना के खौफ से आम जनमानस डरा हुआ है और अपने घरों में कैद होकर रह गया है ,वहीं डिप्टी सीएम के भतीजे रवि मौर्य के नाम पर रात में फर्राटे मार रहे ओवरलोड बालू वाहनों पर जिला प्रशासन रोक लगाने में सफल होता है या फिर सब कुछ ऐसे ही चलता रहेगा यह जांच का विषय है ।

मुख्य ख़बरें