Wed. Apr 8th, 2020

सीओ चायल हुए सख्त अपराधी पस्त, मातहतों में मची खलबली पुलिस घूमेगी गली गली,क्षेत्र में कायम रहे अमन और चैन इसके लिए मातहतों को दिए निर्देश, अपराधियों गुंडों और बदमाशों की जगह होगी जेल,

अपराधियों हो जाओ सावधान मुकाबले में सीओ चायल।
==============================≠==
👉 प्रभारी निरीक्षकों की कसी नकेल , क्षेत्र में कायम रहे अमन और चैन परिंदा कहीं मार न पाए पर..
👉 अपराधी, गुंडों और बदमाशों की जगह होगी जेल, पुलिस की कहीं भी मिली संलिप्तता तो सीधे होगी कार्रवाई ।

👉 फरियादियों के लिए 24 घंटे तत्पर हैं सीओ चायल के0जी0 सिंह ,पीड़ित किसी भी समय कर सकता है संपर्क।

कौशाम्बी । जिले के चायल सर्किल के क्षेत्राधिकारी के0जी0 सिंह ने पत्रकार अमरनाथ झा से एक अनौपचारिक वार्ता में कहा की पुलिस कानून व्यवस्था को कायम रखने एवं हर पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए तत्पर है । परिंदा कहीं भी पर ना मार पाए और चायल क्षेत्र में अमन – चैन कायम रहे । इस नाते क्षेत्राधिकारी चायल ने साफ शब्दों में मातहतों को निर्देश दिया है कि क्षेत्र की कानून व्यवस्था हर हाल में दुरुस्त रखें, इस पर लापरवाही हुई तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा । अपराधी गुंडों और माफियाओं को लेकर उन्होंने कहा कि किसी भी तरह के अपराधियों की जगह जेल होनी चाहिए यदि इसमें कहीं भी किसी प्रभारी निरीक्षक की भूमिका संदिग्ध पाई गई तो वह अपनी खैर ना समझें ।

बता दें कि क्षेत्राधिकारी चायल के0जी0 सिंह के यू-टर्न लेने से सर्किल के अफसरों में हड़कंप मच गया है । उनकी कानून व्यवस्था की प्लानिंग को देखकर साफ लगने लगा है कि अपराधी या तो जिला छोड़ दे या तो फिर अपराध करना बंद कर दे नहीं तो उनकी जगह सलाखों के पीछे होगी । संगठित अपराध, शराब ,अवैध कार्य को लेकर उन्होंने अपने सर्किल के समस्त प्रभारी निरीक्षकों की लगाम कसी है।

उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया है कि कहीं भी अगर कोई परिंदा पर मारा तो संबंधित प्रभारी निरीक्षक की खैर नहीं होगी । गांव- गांव में पुलिस पुलिसिंग करें और लोगों को न्याय मिले । उन्होंने यह भी चेताया कि सभी आरक्षी अपने बीट पुस्तिका मेंनटेन रखें ,इसमें लापरवाही मिली तो सीधे कार्रवाई कर दी जाएगी । बैंक ड्यूटी हर हाल में करें और खुद थानाध्यक्ष समय-समय पर क्षेत्रों में निकले और अपराधियों पर कड़ी नजर रखें । क्षेत्राधिकारी ने यह भी कहा कि थाने में जाने वाले पीड़ितों के भीतर पुलिस का खौफ नहीं होना चाहिए ,उनकी बातें आसानी से सुनी जाए और त्वरित न्याय दिया जाए । हल्का सिपाही और हल्का दरोगा के विषय में उन्होंने कहा कि वह दलालों से दूर रहें और जो शिकायतें मिल रही हैं समय रहते उनमें सुधार कर लें अन्यथा उनकी कार्रवाई की जद में आने पर वह प्रभारी निरीक्षक ,दरोगा या सिपाही कितनी भी पहुंच वाला क्यों ना हो वह बच नहीं पाएगा ।

कानून व्यवस्था हर हाल में दुरुस्त होनी चाहिए , गरीब से लेकर अमीर तक पुलिस बराबर का न्याय करें । जिससे समाज में एक संदेश जाए कि पुलिस की छवि अच्छी है और लोगों को न्याय मिलने लगा है, ऐसा संदेश समाज में जाना चाहिए । जिन प्रभारी निरीक्षकों ने इसका पालन किया है उन्हें समय-समय पर उनकी पीठ थपथपाई जाएगी । अंत में उन्होंने यह भी कहा कि हर हाल में संगठित अपराध बंद होना चाहिए, अपराधियों के अंदर पुलिस का खौफ इस तरह भर दिया जाए कि अपराध अपने आप सून्य हो जाए ऐसा पुलिस को कार्रवाई करनी होगी ।

एक सवाल के जवाब में सीओ चायल के0जी सिंह ने कहा कि फरियादियों के लिए 24 घंटे वह तत्पर हैं । उनके फोन नंबर पर सूचना दें यदि मातहत नहीं सुनते हैं तो वह स्वयं घटनास्थल पर पहुंचेंगे और कड़ी कार्रवाई करेंगे । उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी समय फरियादी सीधे उनके कार्यालय में मिल सकते हैं और हर हाल में उन्हें न्याय मिलेगा

अमरनाथ झा – पत्रकार ( कौशाम्बी वॉइस )

मुख्य ख़बरें