Thu. Sep 24th, 2020

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न, बैठक में सांसद विधायक सहित सीडीओ एवं पीडी रहे मौजूद

कौशाम्बी । सांसद विनोद कुमार सोनकर की अध्यक्षता मे शनिवार को जिला विकास एवं निगरानी समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सम्राट उदयन सभागार में आयोजित की गयी। बैठक में महॉत्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारण्टी योजना, दीनदयाल अन्त्योदय योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, सर्व शिक्षा अभियान, मिड-डे-मील, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, समेकित बाल विकास योजना, कौशल विकास योजना, डिजिटल इंडिया योजना, टेलीकॉम, रेलवेज, हाइवेज सहित अन्य योजनाआंे के सम्बन्ध मंें पिछली बैठक के परिपालन आख्या की समीक्षा की गयी, तथा एजेण्डा विन्दुओं के तहत कार्यों की प्रगति समीक्षा भी की गयी।

जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष एवं समिति के सदस्यों के द्वारा पिछली बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुक्रम में कराये गये कार्यों का प्रत्येक तहसीलवार संबंधित उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में टीम गठित कर कार्यो को सत्यापित कराये जाने के लिए कहा गया है। आवास योजना की समीक्षा करते हुए समिति के द्वारा पूर्व में संचालित मा0 श्री कांशीराम शहरी गरीब आवास येाजना के अन्तर्गत बनाये गये आवासों पर किये गये अवैध कब्जे को एक माह के अन्दर खाली कराये जाने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश पीओ डूंडा को दिया गया। राष्ट्रीय सहायता कार्यक्रम के तहत समिति के द्वारा जिला दिब्यांगजन कल्याण अधिकारी को प्रत्येक सप्ताह में सोमवार को जिला स्तर पर कैम्प लगाकर दिब्यांगजनों के प्रार्थना पत्रों को प्राप्त करते हुए प्रमाण पत्र निर्गत करने हेतु आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। समिति के अध्यक्ष मा0 सांसद विनोद सोनकर ने सभी वित्त पोषित विद्यालयों में छात्रों के सापेक्ष शौचालय बनाये जाने हेतु प्रस्ताव बनाये जाने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक को कहा, साथ ही साथ उन्होने विद्यालयों में दिब्यांग बच्चों के लिए अलग से शौचालय बनाये जाने का निर्देश दिया है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के कार्याे की समीक्षा करते हुए समिति के द्वारा जिला उपायुक्त स्वतः रोजगार को जनपद में कितने समूह क्रियाशील हैं और कितने समूह क्रियाशील नहीं है उनकी सूची उपलब्ध कराये जाने तथा क्रियाशील समूहों के द्वारा क्या कार्य किया जा रहा है उसकी भी सूची उपलब्ध कराये जाने के लिए कहा गया।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की समीक्षा करते हुए समिति के द्वारा जनपद में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनने वाली सड़कों की मास्टर सूची में जो भी सड़कें सम्मिलित की गयी है उनको जिला पंचायत से अवश्य सत्यापित कराये जाने के लिए कहा गया। प्रधानमंत्री शहरी एवं ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा करते हुए समिति के द्वारा पारदर्शिता के साथ पात्र व्यक्तियों को सूची में शामिल किये जाने तथा कोई भी अपात्र व्यक्ति योजना का लाभ न ले पाये इसको सुनिश्चित किये जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया। समिति के द्वारा यह भी कहा गया कि पात्रों की सूची बनाते समय मा0 जनप्रतिनिधिगणों से भी इस सम्बन्ध में अवश्यक विचार विमर्श कर लिया जाये। पाइप पेयजल परियोजना की समीक्षा करते हुए मा0 सांसद ने कहा कि 2024 तक प्रत्येक गांवो में पाइप लाइन के माध्यम से पेयजल की सुविधा मुहैया कराये जाने का लक्ष्य भारत सरकार द्वारा रखा गया है इस क्रम में उन्हेाने अधिशासी अभियंता जल निगम को भारत सरकार की गाइड लाइन के अनुसार 2051 की सम्भावित जनसंख्या को ध्यान में रखते हुए एक माह के अन्दर कार्ययोजना बनाकर भेजे जाने का निर्देश दिया। मा0 सांसद एवं समिति के सदस्यांे के द्वारा अधिशासी अभियंता जल निगम को निर्देशित किया गया कि जो भी पानी की टंकी किसी कारण से बन्द है या अपनी पूरी क्षमता के अनुसार संचालित नहीं हो पा रही हैं उसको संचालित करने हेतु कार्य योजना बनाकर जिला पंचायत को उपलब्ध करा दी जायें। ग्रामीण विद्युतीकरण के कार्यो की समीक्षा करते हुए मा0 सांसद ने कहा कि अभी भी जो मजरे या गांव विद्युतीकरण न हो पायें हो उसके लिए विद्युत विभाग के अधिकारीगण लगकर विद्युतीकरण का कार्य करा लें क्योंकि मार्च 2020 तक ही इस येाजना के तहत कार्य कराया जा सकता है। मा0 सांसद ने कहा कि अभियान चलाकर बचे हुए मजरों एवं गावों का विद्युतीकरण कार्य शीघ्रता से पूर्ण करा लिया जाये।

उन्होने यह भी कहा कि निर्धारित समय के बाद यदि कोई भी मजरा या गांव विद्युतीकरण से वंचित रह जाता है तो उसके लिए विद्युत विभाग पूर्ण रूप से उत्तरदायी होगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा येाजना की समीक्षा करते हुए मा0 सांसद ने उप निदेशक कृषि को खरीफ की फसल के लिए सभी ब्लॉकों में जून माह से कैम्प लगाकर किसानों का बीमा कराये जाने के लिए कहा। बैठक में उप निदेशक कृषि ने बताया कि बीमा कम्पनी के द्वारा आपेक्षित सहयोग न करने के कारण बीमित किसानों के क्षतिपूर्ति का भुगतान होने में अवरोध उत्पन्न हो रहा है इस पर मा0 सांसद ने नामित बीमा कम्पनी यूनाइटेड इन्श्योरेन्स के विरूद्ध कार्रवाई करने के लिए कहा है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की समीक्षा करते हुए मा0 समिति के सदस्यों के द्वारा सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर कैम्प लगाकर क्षय रोगियों को चिन्हित करने तथा उनका इलाज किये जाने के लिए कहा है। समिति के द्वारा यह भी कहा गया कि सभी सीएचसी पर वैनर लगाकर क्षय रोग के बारे में जानकारी देने तथा वैनर में यह भी उल्लिखित करने के लिए कहा गया कि क्षय रोगियों के नाम को गुप्त रखा जायेगा जिससे कि जो भी क्षय रोग से पीडि़त व्यक्ति है वे अपना रजिस्टेªशन करा लें जिससे कि उनका सही इलाज हो सके। आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा के तहत पात्र लाभार्थियों का गोल्डेन कार्ड बनाये जाने तथा उसके अलावा मानक में न आने वाले परन्तु पात्र व्यक्तियों का मुख्यमंत्री गोल्डेन कार्ड योजना से लाभान्वित कराये जाने के लिए कहा। सर्व शिक्षा अभियान की समीक्षा करते हुए समिति के द्वारा जनपद में मिड्डे-मील हेतु अक्षयपात्र एजेन्सी से संपर्क कर जनपद में मिड्डेमील की सुविधा मुहैया कराने हेंतु अनुरोध कराने के लिए कहा गया। समिति के द्वारा अन्य एजेण्डा के विन्दुओं की विन्दुवार समीक्षा की गयी।

जिला सतर्कता एवं निगरानी समिति के अध्यक्ष मा0 सांसद विनोद सोनकर एवं समिति के सदस्यगणों के द्वारा सभी संबंधित विभागों के अधिकारियों को कार्यों को गुणवत्ता, समयबद्धता एवं पारदर्शिता के साथ कराये जाने के लिए कहा गया।
बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी इन्द्रसेन सिंह ने अध्यक्ष  एवं विधायकगणों तथा अन्य जन प्रतिनिधियों को आश्वस्त करते हुये कहा कि उनके द्वारा जो भी दिशा निर्देश एवं सुझाव दिये गये है उनका शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंनें समिति को यह भी आश्वस्त किया कि कार्यों को पारदर्शिता, गुणवत्ता एवं समयबद्धता के साथ पूरा किया जायेगा। बैठक में मा0 विधायक सिराथू शीतला प्रसाद उर्फ पप्पू पटेल, विधायक मंझनपुर लाल बहादुर, अपर जिलाधिकारी  मनोज, जिला विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक, क्षेत्र पंचायत के सदस्यगण तथा अन्य जनप्रतिनिधिगणों के साथ-साथ सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

मुख्य ख़बरें