Mon. Aug 10th, 2020

नगर पालिका और नगर पंचायत बनने की आहट पर उड़ा दिए गए ग्राम सभाओं के खाते से रकम ,करोड़ों रुपए का हो गया भुगतान ,नहीं है कोई ग्राम सभाओं का प्लान ,प्रधान और सिक्रेटरी ने निकाल ली रकम,आखिर किसके आदेश पर हो रहा खेल

नगर पालिका और नगर पंचायत बनने की आहट पर खाली हो गए कई दर्जन गांव के खाते ।

👉 कई दर्जन ग्राम सभाओं के खातों से 1 सप्ताह में ही निकल गई रकम, डीपीआरओ केेेेे आदेश के बारे में हो रही है गुपचुप चर्चा ।

👉 कई करोड़ रुपए बंदरबांट कर हड़पने की प्लानिंग का कार्यक्रम शुरू

👉 यदि जिला प्रशासन ने कराई जांच तो कई लोगों पर गाज गिरना तय ।

कौशाम्बी । जिले में नगर पालिका और नगर पंचायत बनने की आहट क्या मिली कई दर्जन ग्राम सभाओं के खाली हो गए खाते । जिले के तीनों तहसील में नगर पंचायत और नगरपालिका बनने की आहट मिलते ही उच्च अधिकारियों के निर्देश पर सिगरेट्रियो और प्रधानों ने मिलकर खाली कर दिए खाते ।

बता दें कि जिले में कई करोड़ रुपए 1 हफ्ते के अंदर खाते से उड़ा दिए गए । यदि इन सभी ग्राम सभाओं के खातों की जांच हुई तो बड़ा घोटाला सामने आना तय है । ऐसा नहीं है कि जिले के आला अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं है लेकिन कहीं ना कहीं इस मामले में उनकी भी मौन स्वीकृति है । सवाल इस बात का है कि आनन-फानन में खातो से जो धन गायब हुआ है बगैर प्रस्ताव के कहां और कैसे धन खाली कर दिया गया यह बहुत बड़ा जांच का विषय है ।

अगर इस पर जिला प्रशासन ने जांच बैठाई तो नगर पालिका और नगर पंचायत बनने वाले क्षेत्रों के गांव की पोल खुलना तय है । हालांकि समाजसेवियों ने इस पूरे मामले की शिकायत टि्वटर आदि के माध्यम से शासन को कर दिए है । अब देखना यह है कि कौशाम्बी वॉइस की खबर के बाद जिला प्रशासन इस प्रकरण की जांच करवाता है या फिर मामला ठंडे बस्ते में दबकर रह जाएगा यह जांच का विषय है ।

अमरनाथ झा – पत्रकार  – 9415254415

मुख्य ख़बरें