Sat. Jan 25th, 2020

डीएम ने किया का कारियाबाद गौशाला का निरीक्षण, मातहतों को दिए निर्देश

जिलाधिकारी ने शनिवार को कादिराबाद गोसंरक्षण केन्द्र का भी निरीक्षण किया।

कौशाम्बी । जिलाधिकारी ने सीबीओ के साथ किया कादिराबाद स्थित गौशाला का निरीक्षण । मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 वीपी पाठक को निर्देशित करते हुए कहा कि गोसंरक्षण केन्द्र में रहने वाले पशुओं की अनिवार्य रूप से टैकिंग करायी जाये। उन्होने गोसंरक्षण केन्द्र में निकलने वाले गोबर से कम्पोस्ट खाद बनवाये जाने के लिए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने गोसंरक्षण केन्द्र में जल जमाव वाले स्थान पर डाली जा रही मिट्टी के संबंध में निर्दिष्ट करते हुए कहा कि मिट्टी डालने के बाद वहां पर खडंजा भी अनिवार्य रूप से लगाया जाये। उन्होने कड़ाके की ठंड को देखते हुए पशुओं को ठंड से बचाव हेतु सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है।

जिलाधिकारी ने ठंड से बचाव हेतु पर्दे के रूप में बोरा लगाये जाने के अलावा पशुओं को बोरे से ओढ़ाये जाने के लिए भी निर्देशित किया है। जिलाधिकारी ने पशु संरक्षण केन्द्रों पर चारा, पानी, लाइट की मुकम्मल व्यवस्था सुनिश्चित किये जाने के साथ-साथ नियमित रूप से पशुओं का स्वास्थ्य परीक्षण भी कराये जाने का निर्देश दिया है।

उन्होने कहा कि पशुओं को स्वास्थ्य संबंधी किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर तत्काल उनका चेकप करते हुए उचित उपचार की व्यवस्था निरन्तर सुनिश्चित रहे। उन्होने पशुओं का नियमित रूप से टीकाकरण कराये जाने के लिए भी निर्देशित किया है।

उन्होने नोडल अधिकारियों को नियमित रूप से गोसंरक्षण केन्द्रों का भ्रमण करने एवं गोसंरक्षण केन्द्रों में किसी भी प्रकार की कमी पाये जाने पर तत्काल उस कमी को दूर कराते हुए सूचना उपलब्ध कराये जाने के लिए कहा है।

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा है कि सभी गोसंरक्षण केन्द्रों पर पशु चिकित्साधिकारी नियमित रूप से अनुश्रवण करते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थायें चुस्त-दुरूस्त बनायें रखें। उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी एवं सभी खण्ड विकास अधिकारियें को पशु संरक्षण केन्द्रों में रह रहे जानवरों की गिनती करते हुए उसको रजिस्टर में दर्ज कराये जाने के लिए कहा है। इस अवसर पर मुख्य पशु चिकित्साधिकारी सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

मुख्य ख़बरें