Fri. Dec 6th, 2019

त्रिपुला चौराहे को शहीद बीरा पासी चौराहा बनाने का दिया ज्ञापन ,कैबिनेट मंत्री कमला रानी को ज्ञापन देकर राष्ट्रीय पासी सेना ने किया मांग

वीरा पासी चौराहा बनाने का कैबिनेट मन्त्री को दिया ज्ञापन, वीरा पासी के नाम से थरथर कांपे थे अंग्रेज ।

रायबरेली, 17-11-2019 । उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट मन्त्री कमलरानी वरूण जी के इलाहाबाद जाते समय राष्ट्रीय पासी सेना के अध्यक्ष संजय पासी के नेतृत्व में पासी समाज के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने त्रिपुला चैराहे पर रोककर भव्य स्वागत किया। इस दौरान पासी समाज के नेताओं ने त्रिपुला चैराहे के नामकरण अमर शहीद वीर बीरा पासी के नाम से कराये जाने एवं मूर्ति का निर्माण कराये जाने सम्बन्धी ज्ञापन दिया । श्री पासी ने दिये गये ज्ञापन में कहा है कि पासी समाज का योगदान आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण रहा है, जनपद रायबरेली की पावन धरती में जन्मे अमर शहीद वीर बीरा पासी जी ने आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी एवं रण के मैदान में सैकड़ों अंग्रेजों को मौत के घाट उतारा था । गोरी हुकूमत इनके नाम से थर-थर काँपती थी, जिसका स्पष्ट उदाहरण वर्ष 1857 में इन्हें जीवित अथवा मृत रूप में पकड़ने के लिए पचास हजार रूपये का इनाम घोषित किया जाना था । इतने के बावजूद भी ब्रिटिश सरकार उनको पकड़ नहीं सकी थी । समाज में अनेक महापुरूष अवतरित हुए हैं जिन्होंने अंग्रेजों से लडाइयां लड़ी है और शहीद हो गए हैं लेकिन इतिहास के पन्नों में उनका नाम कहीं भी दर्ज नहीं है ।

ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से अरविन्द पाठक, अजय दुबे, महराजदीन बाजपेयी, पुनई पासी, देशराज पासी, हनुमान पासी, रेवतीरमन पासी, धीरज कुमार पासी, बचोले प्रसाद, मन्नालाल रावत, बुद्धीलाल रावत, खुशीराम भारती, श्रीपाल पासी, चेला पासी, सन्तोष रावत, हनुमान पासी, शिवकुमार पासी, सचिन पासी, सुरेन्द्र कुमार पासी, प्रदीप कुमार पासी, चन्दन सोनकर आदि लोग उपस्थित रहे।

मुख्य ख़बरें