Fri. Dec 6th, 2019

जिले के मंझनपुर डाइट मैदान में मनाया गया वीरांगना उदा देवी पासी का शहीद दिवस ,हजारों कार्यकर्ता रहे मौजूद ,लोगों ने रखे अपने विचार, 36 अंग्रेजों को मार गिराया था वीरांगना ऊदा देवी पासी ने, इतिहास में नहीं दर्ज हुआ उनका नाम

डायट मैदान, मंझनपुर में 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में शहीद वीरांगना उदा देवी पासी जी की मनाया गया शहादत दिवस ।

वीरांगना उदा देवी पासी में 36 अंग्रेजो को मार कर किया था धारासाही, अंग्रेजों के उड़ गए थे होश ।

इतिहास के पन्नों में नई दर्ज हुआ वीरांगना ऊदा देवी पासी का नाम, इतिहास लिखने वालों ने किया भेदभाव

कौशाम्बी । जिले मे आज 16 नवम्बर 2019 को राष्ट्रीय अतिपिछड़ी अनुसूचित जाति जागृति मोर्चा व अन्य कई सामाजिक सहयोगी संगठनो के माध्यम से मंझनपुर डाइट मैदान में वीरांगना ऊदा देवी पासी का शहीद दिवस मनाया गया ।

भारत के 1857 स्वतंत्रता संग्राम में अग्रेजों से लड़ाई लड़ते हुए शहीद हुई वीरांगना उदा देवी पासी जी की 162 वीं शहादत दिवस कौशाम्बी जिले के डायट मैदान, मंझनपुर में मनाया गया। शहादत दिवस के अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता मनोज कुमार  (राष्ट्रीय प्रभारी राष्ट्रीय अतिपिछड़ी अनुसूचित जाति जागृति मोर्चा नई दिल्ली) ने किया। मनोज जी ने अपने अध्यक्षीय भाषण में बताया कि भारत के 1857 के आजादी के आंदोलन में अपने पति मक्का पासी जी के शहीद होने के बाद वीरांगना उदा देवी पासी अंग्रेजों से लड़ाई लड़ने की जिम्मेदारी अपने कंधो पर लिया था ।

16 नवम्बर 1857 को सिकंदर बाग में शरण लिए 2000 भारतीय सिपाहियों का ब्रिटिश फौज द्वारा संहार कर दिया गया था। उस वक्त वीरांगना उदा देवी पासी पीपल के पेड़ पर बैठकर गोलियां चलाकर 36 अंग्रेज सैनिकों को मौत के घाट उतारकर वीरगति को प्राप्त हुई थीं। उनके अदम्य साहस से अचंभित होकर ब्रिटिश सैनिक और जरनल काल्विन ने अपनी टोपी उतारकर उन्हें श्रद्धांजलि दी थी लेकिन भारत के इतिहास के पन्नों से इस वीरांगना का नाम हटा दिया गया लेकिन हम बहुजन समाज के लोग इनके इतिहास को मिटने नहीं देगें।

कार्यक्रम के उद्घाटक –  चुन्नी लाल सरोज ( प्रधानाचार्य श्री दुर्गा देवी इंटर कॉलेज ओसा), मुख्य अतिथि –  मतेश सोनकर ( पूर्व मंत्री उ० प्र०), विशेष उपस्थिति –  माताफेर ( रिटा० अपर आयुक्त उ० प्र०) , किरण चौधरी , समय लाल पासी, लाखन सिंह राज पासी , वीरेंद्र निर्मल , भुलाई पासी , वीरेंद्र फौजी , सत्यप्रकाश भारती , प्रदीप सोनकर , के० एल० नागवंशी , रमेश चंद्र पासी , विनय पासी  , धनंजय भारती, जुगरात यादव, सुरेन्द्र मौर्य, अंगद मौर्य आदि लोग उपस्थित रहे  ।

मुख्य ख़बरें