Sun. Nov 17th, 2019

डीएम ने मीटिंग कर किसानों के धान खरीद के लिए अधिकारियों के लिए दिशानिर्देश ,जिले में 52250 मीट्रिक टन धान खरीद का लक्ष्य ,7 क्रय एजेसियों द्वारा 32 क्रय केन्द्रों पर धान खरीद हुआ प्रारम्भ

धान खरीद क्रय केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें चुस्त-दुरूस्त बनाये रखने का निर्देश 

धान खरीद में किसी भी प्रकार की शिकायत होने पर क्रय केन्द्र प्रभारी होगें जिम्मेदार,

लापरवाही पर क्रय केन्द्र प्रभारी के विरूद्ध दर्ज होगी एफआईआर,किसान भाई तत्काल अवश्य कराये अपना रजिस्ट्रेशन जिलाधिकारी

कौशाम्बी । जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में जनपद में 1 नवम्बर से शुरू हो रहें धान खरीद की तैयारियों की समीक्षा बैठक आयोजित की गयी । बैठक में जिलाधिकारी ने सभी क्रय केन्द्र प्रभारियों एंव क्रय एजेंसियों के जिला प्रबन्धकों को क्रय केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यावस्थायें सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है । उन्होने क्रय केन्द्रो पर किसानों के बैठने, पीने के पानी तथा पर्याप्त मात्रा में बोरे, नमी मापक यन्त्र तथा कॉटे की समुचित व्यवस्था किये जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देशित किया है कि 1 नवम्बर को सभी क्रय क्रेन्द्रों पर अनिवार्य रूप से धान खरीद शुरू हो जानी चाहिए। उन्होने कहा है कि धान ,खरीद में किसी भी प्रकार की शिकायत नहीं होनी चाहिए और न ही धान बेचने में किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न हो।

उन्होने कहा है कि धान खरीद में यदि किसी भी प्रकार की शिकायत पायी गयी और वह शिकायत जॉच में सही पायी गयी तो केन्द्र प्रभारी सहित अन्य सम्बन्धित लोगों के विरूद्ध कडी कार्यवाही तो होगी ही साथ ही साथ एफआईआर भी दर्ज करायी जायेगी। जिलाधिकारी ने कृषि विभाग तथा जिला खाद्य विपणन अधिकारी को क्रय केन्द्रों पर किसानों के रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था किये जाने तथा किसानों को मोटीवेट करते हुए उनका रजिस्ट्रेशन कराये जाने के लिए कहा है। उन्होनें कहा कि बिना रजिस्ट्रेशन के धान क्रय केन्द्रों पर किसान भाई अपना धान नहीं बेच सकतें है। इसलिए उन्होनें किसानों से भी अपील करतें हुए कहा है कि किसान भाई अपना रजिस्ट्रेशन अवश्य करा लें। जिलाधिकारी ने सभी उप जिलाधिकारियों, तहसीलदारों को अपने- अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर धान खरीद की व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होनें कहा है कि धान खरीद में किसी भी तरह से बिचौलियों का हस्तक्षेप न हो और धान खरीद पारदशि्र्ाता के साथ हो। उन्होनें कहा है कि धान खरीद में घटतौली या, अन्य किसी प्रकार की शिकायत न हो।

बैठक में जिला खाद्य विपणन अधिकारी अंशुमाली शंकर ने बताया है कि वर्ष 2019-20 के लिए जनपद में धान खरीद का कुल लक्ष्य 52250 मीट्रिक टन निर्धारित किया गया है। उन्होने यह भी बताया है कि जनपद में कुल 7 धान क्रय एजेंसियों के कुल 32 क्रय सेन्टर खोले गयें है। जहॉ पर धान खरीद होगी। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी मनोज तथा धान क्रय एजेंसियों के जिला प्रबन्धक गण एंव क्रय केन्द्र प्रभारियों के अलावा अन्य सम्न्धित विभागों के कर्मचारी गण उपस्थित रहें।

मुख्य ख़बरें